v kidney ke dard ke gharelu upay किडनी के दर्द के घरेलू उपाय
घरेलु उपचार

kidney ke dard ke gharelu upay किडनी के दर्द के घरेलू उपाय

Kidney ke dard

kidney ke dard ke gharelu upay:

किडनी हमारे शरीर के बहुत सारे कामो को पूरा करती हैं. यह एसिड-बेस को सही मात्रा को बनाये रखता है, इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस, ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल, मूत्र से बेकार चीजों को बहार निकलता हैं. कई अंगो की तरह, किडनी भी बहुत से रोगो से ग्रस्त होते हैं, हमेशा गलत खान-पान और संक्रमण के बढ़ने कारण होता हैं.

किडनी के दर्द (kidney ke dard) के आम लक्षणों में से एक है, पीठ के निचले हिस्से में दर्द होता है साथ ही एक बेचैनी सी दर्द होती है. यह दर्द पुरुषों और महिलाओं दोनों में होता है, लेकिन यह दर्द महिलाओं में ज्यादा होता है.

इस आर्टिकल में हम इसके कारणों, लक्षणों, घरेलू उपचारों के बारे में बात करेंगे जो इसे कम करने के लिए के बताया गया है.

Kidney ke dard ke karan किडनी के दर्द के कारण

ये 3 सबसे आम कारण हैं:

1.मूत्र प्रणाली में संक्रमण का बढ़ाना;

2.किडनी के भीतर पथरी का होना;

3.मूत्र निकलने के राह में रुकावट या परेशानी होना

किडनी में होनेवाले दर्द के 5 सामान्य कारण

1.किडनी के अंदर खून का बहाना

2.किडनी में ट्यूमर होना

3.किडनी के नसों में खून का जमना

4.बहुपुटी किडनी रोग

5.बढ़े हुए प्रोस्टेट (पुरुषों में)

इसे भी पढ़े: Sine me dard ke karan सीने में दर्द

Kidney ke dard or uske lakshan किडनी के दर्द और उसके लक्षण

किडनी का दर्द कभी खुद से नहीं होता; व्यक्ति को ये आमतौर पर कोई अलग लक्षण लगता है , जिनमें शामिल हैं

  • पीठ के पिछले हिस्से में दर्द
  • बुखार का अहसास
  • ठंड से कांपना
  • थकान महसूस होना और भूख न लगना
  • पेशाब करते समय जलन या महसूस होना
  • असामान्य मूत्र गंध या अलग तरह का मूत्र
  • पेट के निचले हिस्से में दर्द.

 

 

Kidney ke dard ko dur karne ke liye kya acha hai? किडनी के दर्द को दूर करने के लिए क्या अच्छा है?

ये ध्यान दिया जाना चाहिए कि, ऐसा दर्द होने पर रोग को पहचाने के लिए अच्छा होगा की आप डॉक्टर से जा कर मिले, ध्यान रखें कि जल्दी इलाज होने पर ये परेशानी बहुत लंबे समय तक हो सकती हैं. नीचे दिए गए उपाय आपको तेजी से ठीक होने में मदद कर सकते हैं, लेकिन हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह जरुर ले.

1. पानी

हालांकि यह वास्तव में कोई उपाय नहीं है, लेकिन इस सूची में पहला राय पानी के अलावा कोई और नहीं हो सकता है.

जब भी आप किसी किडनी की समस्या या दर्द से पीड़ित हों, तो आपको खूब सारे तरल पदार्थ पीने चाहिए, विशेष रूप से पानी, क्योंकि यह जहरीले पदार्थों को खत्म करने और किडनी को जल्दी से साफ करने में आपकी मदद करने के लिए सबसे असरदार है.

वास्तव में, पानी की कमी एक ऐसा करण है जो दर्द पैदा कर सकता है. यह जरुरी है कि आप दिन में कम से कम 8-10 गिलास पानी को पिये, लेकिन परिणाम देखने के लिए आपको उस मात्रा से अधिक पानी पीना चाहिए.

2. नींबू का रस

किडनी की पथरी के कारण होने वाले दर्द से निपटने के लिए यह जरुरी हैं. नींबू का रस होना, नींबू का रस किडनी के भीतर कैल्शियम के समूह को तोड़ने में मदद करता है, जिससे उन्हें शरीर से बाहर निकालने में मदद मिलती है.

नींबू पानी, हर्बल चाय या नींबू के साथ पानी पीने से आपको अधिक बार पेशाब आना शुरू हो जाएगा, मूत्र निकलने वाले जगह को साफ करने में मदद मिलेगी, और इसे जल्दी ठीक होने में मदद करेगी. अधिक से अधिक पीने वाले खाद्य पदार्थों में नींबू का रस मिलाने की कोशिस करें, उदाहरण के लिए सलाद, अर्क, जूस और सामान्य पानी.

3. तुलसी

इसकी एसिटिक एसिड सामग्री के कारण, तुलसी को एक प्राकृतिक फायदेमंद (tonic ) माना जाता है जो पथरी को टुकड़े टुकड़े करने, दर्द से राहत देने और किडनी के संक्रमण से लड़ता हैं.

आप एक कप पानी में मुट्ठी भर पत्तियों को मिलाकर तुलसी का रस तैयार कर सकते हैं, या गर्म पानी में पत्तियों को कई मिनट तक छोड़ दे जिससे तुलसी का रस तैयार हो जाये. अपने दैनिक भोजन में ताजी तुलसी के पत्ते को मिलाकर खा भी सकते हैं.

4. बिछुआ पत्ते

बिछुआ के पत्तों में ऐसे गुण होते हैं जो मूत्राशय और किडनी के माध्यम से पानी के प्रवाह को आसान बनाते हैं, जो सामान्य पेशाब को बढ़ा देता है.

इसके अलावा, यह बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करता है और जमने से रोकता है जो बाद में पथरी का कारण बन सकता है. किडनी के दर्द (kidney ke dard) से राहत पाने के लिए अच्छा होगा कि आप दिन में कम से कम 2-3 बार बिछुआ पत्तियों की चाय पिएं.

ध्यान दे : ध्यान दें कि बिछुआ पत्ते मूत्र को बढ़ाता है, यह किडनी की बीमारी वाले लोगों के लिए लिए मन हैं.

5. ग्रेनेडा

शरीर में इसके खट्टा और हाइड्रेटिंग गुणों के कारण, अनार का रस और बीज किडनी के दर्द (kidney ke dard) को दूर करने के साथ-साथ संक्रमण और पथरी को ठीक करने के लिए बहुत फायदेमंद हो सकते हैं. अनार का जूस आप दिन में कई बार पी सकते हैं या फिर इसके बीज सीधे खा सकते हैं.

ध्यान दे : किडनी की बीमारी होने पर अनार का सेवन कम मात्रा में करना चाहिए.

6. बिन्स की फली

बिन्स की फली एक घरेलू उपाय हैं, लेकिन जब यूटीआई को ठीक करने की बात हो तो, पथरी को तोड़ने और किडनी के दर्द (kidney ke dard) से राहत पाने की बात आती है तो ये बहुत अच्छा काम कर सकता हैं.

बीन्स को फली के अंदर से हटा दें और उन्हें नरम होने तक उबाल लें; फिर इस तरल को छान लें, इसे ठंडा होने दें, इसे एक बार फिर से छान लें और इसे सादे पानी की तरह दिन में कई बार पियें.

7. प्राकृतिक जैतून का तेल

अगर पथरी के कारण होनेवाले दर्द को दूर करना चाहते है, तो ये सबसे अच्छे और आसान तरीक़ा है. मूत्र के रास्ते पर चिकनाई के कारण पथरी को बाहर की ओर ले जाने में आसानी होती है. इसे इस्तेमाल करना बहुत आसान है; अधिक मात्रा में जैतून का तेल और शुद्ध नींबू का रस बराबर मात्रा में मिलाएं और तुरंत पीएं.

8. अजवाइन

अजवाइन किडनी में सुधार करने के लिए असाधारण गुण होते हैं: यह एक मूत्र को रोकने में,  निराविषकारी (detoxifying ) और रोगाणु को रोकने लायक है.

अजवाइन का रस पीने से न केवल शरीर से जहरीले पदार्थों को खत्म करने में मदद मिलती है, बल्कि ऑक्सालेट के जमने को भी रोकता है और किडनी में मौजूदा पथरी को तोड़ने में मदद करता है.

एक मिश्रण यंत्र में अजवाइन की कुछ टहनियाँ, थोड़ा पानी और आधा नींबू का रस मिलाएं; अच्छी तरह मिलाकर जूस तैयार कर ले और इस जूस को दिन में कई बार पिएं. ये ध्यान देना चाहिए की आपको अजवाइन के जूस के साथ प्राकृतिक रूप से अजवाइन भी खाने चाहिए.

ध्यान रखें कि इस सब्जी को किडनी के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए सबसे अच्छे खाद्य पदार्थों में से एक के रूप में मान्यता दी गई है, क्योंकि यह सोडियम, पोटेशियम और फास्फोरस के स्तर के बीच अच्छे संतुलन का पक्षधर है.

9. सिंहपर्णी के जड़ का चाय

किडनी के दर्द (kidney ke dard) से राहत के लिए सबसे अच्छी हर्बल चाय है, सिंहपर्णी की जड़ से बनी चाय है. पेशाब को बढ़ावा देने और किडनी से ज़हरीला पदार्थों को बाहर निकालने के लिए इसके मूत्रवर्धक और विष हरने वाला गुणों को देखा गया है. 

यदि आपके पास यह जड़ है, तो इसे कई मिनट तक उबलते पानी में डुबो कर पीना सुनिश्चित करें, लेकिन यदि नहीं तो आप एक मामूली रूप से चाय का उपयोग भी कर सकते हैं या पूरक ले सकते हैं.

10. टमाटर का रस

टमाटर का रस शरीर पर विषहरण (विष हरने वाला) प्रभाव पड़ता है और किडनी की पथरी को तोड़ने में मदद करता है. एक बहुत ही लोकप्रिय उपाय है कि खाली पेट 1 गिलास टमाटर का रस पिएं, उसके बाद 1 गिलास पानी पिएं.

यह कुछ ही मिनटों में तैयार हो जाता है; आपको बस एक मिश्रण करने वाला यंत्र में कई टमाटर रखे, थोड़ा पानी डालें और अच्छी तरह से तब तक मिलाये जब तक आपको मनचाहा गाढ़ापन न मिल जाए; और तुरंत पी लो. इसे कई बार करे ताकि आपको पता चल सके ये फायदेमंद है या नहीं .

इसे भी पढ़े: Pathri ka ilaj: 11 gharelu upchar ya tarike

Kidanee ke dard ko kaise roka ja sakata hai? किडनी के दर्द को कैसे रोका जा सकता है?

हालाँकि किडनी में दर्द हमेशा बुरी आदतों की उपस्थिति के कारण नहीं होता है, फिर भी निम्नलिखित लिखे हुए उपायों को ध्यान में रखना हमेशा महत्वपूर्ण होता है:

  1. दिन में जितना हो सके उतना पानी पिएं, कम से कम 8 गिलास . पानी के अलावा, अन्य स्वस्थ पेय पीएं, उदाहरण के लिए घर का बना फलों का रस, विशेष रूप से करौंदा का रस.
  2. जब पेशाब लगे तो तुरंत करले इसे रोके नहीं.
  3. पेशाब करने वाले जगहे में बॉडी स्प्रे लगाएं.
  4. रेशेदार खाद्य पदार्थों से भरपूर आहार लें.
  5. गंदे जगहों पर पेशाब करने से बचें .
  6. अगर आप एक महिला हैं तो अपने नीजी अंग को हमेशा आगे से पीछे की ओर साफ करें . असामान्य योनि लक्षणों की उपस्थिति में, संक्रमण होने पर जाँच करने के लिए डॉक्टर के पास जाएँ. योनि संक्रमण मूत्र पथ के संक्रमण का कारण बन सकता है.
  7. अपने आहार में बहुत अधिक सोडियम का सेवन करने से बचें , क्योंकि इससे आपके किडनी में पथरी होने की संभावना बढ़ सकती है.
  8. अतिरिक्त खाद्य पदार्थों से बचें जो किडनी में ऑक्सालेट बना सकते हैं , जैसे चाय, पालक, चॉकलेट, नट्स आदि.

 

Leave a Comment