v khansi ka ilaj और upay khasi ki dawa के साथ
घरेलु उपचार

khansi ka ilaj और upay khasi ki dawa के साथ

khansi ka ilaj

khansi ka ilaj:

खांसी एक बहुत ही आम समस्या है. यह समस्या तब होती है जब हमारे सांस लेने की नली में कोई रुकावट आ जाती है तब हमारा दिमाग शरीर को खांसी करने का सिग्नल देता है ताकि वह रुकावट दूर हो सके.

खांसी की समस्या सर्दी, जुकाम, धूम्रपान करने या स्वास्थ्य संबंधी समस्या जैसे अस्थमा, ट्यूबरक्लोसिस(TB) लंग कैंसर इत्यादि के कारण भी हो सकते हैं.

इसके कुछ लक्षण है जैसे कि गले में खुजली, सीने में दर्द या फिर अकरण. आप कुछ घरेलू उपाय का भी उपयोग करके इस खांसी की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं.

 

खांसी का इलाज (khansi ka ilaj)

 

हल्दी

haldi

हल्दी खांसी के लिए एक रामबाण औषधि है खासकर सूखी खांसी के लिए.

  • आधा कप पानी को हल्का गर्म करने. अब इसमें एक चम्मच हल्दी पाउडर और एक चम्मच काली मिर्च पाउडर मिला दे. आप इसमे दालचीनी के टुकड़े भी मिला सकते हैं. अब इसे दो-तीन मिनट उबलने के लिए छोड़ दें जब यह मिश्रण ठंडा हो जाए तब इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर इसका सेवन करें. आप इस मिश्रण का सेवन हालत में सुधार होने तक रोजाना करे
  • इसके अलावा आप इसका हर्बल टी बना कर भी पी सकते हैं. इसके लिए एक कप पानी में एक चम्मच हल्दी और एक चम्मच अजवाइन मिलाकर उसे खौलने के लिए छोड़ दें जब तक एक चौथाई पानी न बच जाए. अब इस मिश्रण को ठंडा करके उसमें शहद मिलाकर इसका सेवन कर ले. आप इस मिश्रण का सेवन दिन में दो या तीन बार कर सकते हैं
  • हल्दी को इस्तेमाल करने का एक दूसरा तरीका यह है कि आप एक खरा हल्दी लेकर उसे धीमी आंच पर भून ले. अब इसे मिक्सी में डालकर इसका पाउडर तैयार कर ले और इस पाउडर को पानी और शहद में मिलाकर दिन में दो बार सेवन करें

अदरक

adrak

खांसी से राहत दिलाने के लिए अदरक एक बहुत ही प्रचलित औषधि है.

  • ताजा अदरक को छोटे छोटे टुकड़ों में काटकर उन्हें हल्का सा कुचल दें. अब इसे पानी में डालकर थोड़ी देर के लिए उबलने दें. जब मिश्रण ठंडा हो जाए तो इसका सेवन करें. दिन में तीन से चार बार इसका सेवन करने से गले में खराश, लगातार होने वाली खांसी और सीने में अकरण से राहत मिलेगी. आप इसमें नींबू का रस और शहद भी मिला सकते हैं
  • खांसी से राहत पाने के लिए आप ताजे कच्चे अदरक का भी सेवन कर सकते हैं

नींबू

nimbu

खांसी को ठीक करने के लिए नींबू का इस्तेमाल कई तरह से किया जा सकता है. नींबू में विटामिन सी होता है जो कि संक्रमण से लड़ने में काफी मदद करता है और नींबू में ऐसे गुण होते हैं जो सूजन को कम करते हैं.

  • दो चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर इसका एक खांसी की दवा तैयार करें. अब इस मिश्रण का सेवन दिन में दो तीन बार करें
  • नींबू को इस्तेमाल करने का दूसरा तरीका यह है कि नींबू के रस में थोड़ा सा शहद मिलाकर और उसमें एक चुटकी लाल मिर्च पाउडर के साथ उसका एक मिश्रण तैयार कर ले और उसका सेवन कर ले.

लहसुन

lahsun

लहसुन में एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल्स गुण पाए जाते हैं जो कि खांसी से लड़ने में सहायक होते हैं.

  • एक कप पानी में लहसुन की 3-4 कलियां और एक चम्मच ओरिगैनो मिलाकर उसे उबाल ले. जब यह मिश्रण ठंडा हो जाए तब इसमें शहद मिलाकर इसका सेवन करे. यह आपकी सांस संबंधी समस्या को दूर करेगा और खांसी के लक्षणों को कम करेगा
  • इसके अलावा आप लहसुन की एक कली को लेकर उसे कुचल ले और उसमें तीन से चार बूंदे लौंग के तेल की और साथ ही साथ थोड़ा सा शहद भी मिला लें. इस मिश्रण का सेवन करने से यह आपकी खांसी की समस्या तथा गले की खराश से राहत दिलाएगा

प्याज

pyaj

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि खांसी से राहत के लिए घरेलू उपचारों में से एक उपचार प्याज काटना भी है. प्याज की गंध की मौजूदगी में सांस लेने से खांसी को रोकने में मदद मिल जाती हैं

  • आधा चम्मच प्याज के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर इस मिश्रण का सेवन करें. दिन में दो बार इस मिश्रण का सेवन करने से आपके गले में आराम मिलेगा तथा आपको खांसी से राहत मिल जाएगी
  • इसके अलावा हल्के पके हुए प्याज के रस में शहद मिलाकर उसका चाय बनाकर पीने से भी सूखी खांसी में आराम मिलता है

दूध और शहद

Honey-and-milk

सूखी खांसी, सीने में दर्द और लगातार खांसी से राहत पाने के लिए आप शहद और हल्के गर्म दूध का उपयोग कर सकते हैं. बेहतर परिणाम के लिए इस मिश्रण का सेवन सोने से पहले करें. शहद के गुणों से अतिरिक्त लाभ के लिए खाली पेट एक चम्मच शहद का सेवन अवश्य करें. यह बलगम को साफ कर आपके गले को राहत पहुंचाने में मदद करेगा

लाल मिर्च

लगातार खांसी से सीने में होने वाली दर्द से राहत पहुंचाने के लिए आप लाल मिर्च का भी उपयोग कर सकते हैं.

  • इसके लिए एक चौथाई लाल मिर्च एक चौथाई पिसी हुई अदरक, एक चम्मच शहद, एक चम्मच सेब का सिरका और दो चम्मच पानी मिलाकर इसका एक मिश्रण तैयार कर ले. अब इस मिश्रण का दिन में दो या तीन बार सेवन करे.

Leave a Comment