v dandruff treatment at home in hindi
ब्यूटी टिप्स

dandruff treatment at home in hindi

dandruff treatment at home in hindi:

डैंड्रफ, जिसे सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस के रूप में भी जाना जाता है, यह सिर की त्वचा की एक सामान्य परेशानी है. यह सूखी त्वचा, तैलीय त्वचा, सर की त्वचा पर बैक्टीरिया की वृद्धि और ऐसे कई अन्य कारणों से हो सकता है. 

डैंड्रफ सर में सुखी त्वचा की पपड़ी के रूप में जमा हो जाता है साथ-साथ सर में खुजली का कारण भी बनता है।

बालों की नियमित देखभाल से डैंड्रफ को नियंत्रित किया जा सकता है. इसके लिए आप कुछ सरल प्राकृतिक घरेलू उपचार भी आजमा सकते हैं. यह सच है कि प्राकृतिक उपचार के परिणाम दिखाने में समय लगता है लेकिन वे समस्या का पूरी तरह से इलाज कर सकते हैं।

dandruff treatment at home in hindi

नीम

neem

नीम के एंटिफंगल और जीवाणुरोधी गुण, रूसी या डैंड्रफ के साथ-साथ सर की खुजली, बाल झरने की परेशानी और बालों के कई अन्य समस्याओं का कुशलता से इलाज करने में मदद करते हैं।

  • चार कप पानी में मुट्ठीभर नीम की पत्तियों को उबालें।
  • अब इसे छानकर ठंडा कर ले.
  • इस काढ़े का प्रयोग सप्ताह में दो या तीन बार बालों को धोने के लिए करें।

नारियल का तेल

coconut-oil

नारियल तेल अपने ऐंटिफंगल गुणों के कारण रूसी या डैंड्रफ को खत्म करने में मदद करता है। यह सर की सूखी त्वचा को मॉइस्चराइज करता है और खुजली से राहत देता है।

  • थोड़ा सा नारियल तेल लें और उसमें  आधी मात्रा में नींबू के रस को मिलाएं।
  • इसे अपने स्कैल्प पर लगाते हुये कुछ मिनट तक मसाज करें।
  • कम से कम 20 मिनट तक लगे रहने देने के बाद अपने बालों को धो लें।
  • सप्ताह में दो से तीन बार इस उपाय को जरुर करें।

बेकिंग सोडा

baking-soda

बेकिंग सोडा मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद करता है और साथ ही सर में मौजूद अतिरिक्त तेल को अवशोषित करता है। यह सर की त्वचा का पीएच स्तर को संतुलित करने और फंगस के विकास को कम करने में मदद करता है जो रूसी का कारण बनता है।

  • अपने बालों को गीला करें और मुट्ठी भर बेकिंग सोडा को अपने स्कैल्प पर रगड़ें।
  • कुछ मिनटों के बाद, हल्के गर्म पानी से अपने बालों को अच्छी तरह से धो दें।
  • कुछ हफ्तों के लिए इस उपाय को सप्ताह में एक या दो बार दोहराएं।

नोट: इस उपचार के बाद अपने बालों को शैम्पू न करें।

 नींबू का रस

nimbu-ka-ras

नींबू के रस में एसिड होते हैं जो फंगी से लड़ते हैं जो रूसी या डैंड्रफ के बनने का एक मुख्य कारण हैं. यह सर में हो रही खुजली से राहत देने में भी मदद करता है। 

  • एक चौथाई कप सादे दही में आधे नींबू का रस मिलाएं. इसे अपने बालों और स्कैल्प पर लगाएं. इसे 20 मिनट तक लगा रहने छोड़ दें। जब समय पूरा हो जाये तो बाल में शैम्पू करके ठंडे पानी से धो ले.
  • इसके अलावे आप थोड़े से पानी में कुछ चम्मच नींबू के रस को  मिलाकर अपने सर की मालिश करे. अब 5 से 10 मिनट तक इसे लगा रहने दे फिर शैम्पू कर ले.

टी ट्री आयल

TEA-TREE-OIL

टी ट्री आयल में मजबूत ऐंटिफंगल गुण होते हैं, जिस कारण यह डैंड्रफ के लिए रामबाण उपाय का काम करता है.

  • बस अपने बालों को धोते समय अपने शैम्पू में टी ट्री आयल की कुछ बूँदें मिलाले. एक चौथाई शैम्पू में टी ट्री आयल की 4 बुँदे जरुर मिलाये.
  • आप एक चम्मच जैतून के तेल या नारियल के तेल में टी ट्री आयल की कुछ बूँदें डालकर तेल को पतला कर सकते हैं। इसे अपने बालों पर लगाएं, कम से कम 30 मिनट या रात भर के लिए छोड़ दें और फिर अपने बालों को धो लें. इसे हफ्ते में एक या दो बार करें।

जैतून का तेल

jaitun ka tel

जैतून के तेल के नियमित उपयोग से स्कैल्प का सूखापन ठीक हो सकता है।

  • जैतून के तेल को हल्का गर्म कर ले.
  • अब इससे अपने स्कैल्प पर मसाज करें और फिर अपने बालों को एक गर्म तौलिये में लपेट लें।
  • इसे कम से कम 45 मिनट या रात भर के लिए छोड़ दें और फिर अपने बालों को शैम्पू और कंडीशन करें।
  • इस उपाय को हफ्ते में कुछ बार दोहराएं।

मेथी दाना

methi

मेथी में एंटिफंगल गुण होते हैं जो रूसी या डैंड्रफ को काफी हद तक नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

  • मेथी के बीज के दो से तीन बड़े चम्मच रात भर पानी में भिगोएँ. सुबह में, उनका एक पेस्ट तैयार कर ले. आप इसमें कुछ चम्मच सादा दही भी मिला सकते हैं।
  • पेस्ट को अपने स्कैल्प पर लगाएं और इसे कुछ घंटों के लिए छोड़ दें।
  • अब बालो को धो ले. इसे हफ्ते में एक या दो बार करें।

डैंड्रफ के लिए इन प्राकृतिक उपचारों का उपयोग करते समय धैर्य रखें। आपको बेहतरीन परिणाम के लिए लगातार अपनी पसंद के उपाय का पालन करना होगा।

 

Leave a Comment